heart attack के आने से पहले मिलते हैं ये खास संकेत, न करें नजरअंदाज!

आजकल युवाओं से लेकर बुजुर्गों तक में हार्ट अटैक के मामले बढ़ते जा रहे हैं। अचानक होने वाले इन हार्ट अटैक की वजह से मरीज को अस्पताल पहुंचने का मौका तक नहीं मिल पाता है, जिससे उनकी जान चली जाती है।

लेकिन क्या आप जानते हैं कि हार्ट अटैक हमेशा अचानक नहीं होता? जी हाँ, हार्ट अटैक आने के 3-4 महीने पहले ही शरीर आपको कुछ संकेत देना शुरू कर देता है, जिन्हें अनदेखा न करके आप इस जानलेवा बीमारी से बच सकते हैं।

झारखंड के आयुर्वेदिक डॉक्टर वीके पांडे (विनोबा भावे यूनिवर्सिटी से बीएएमएस, झारखंड सरकार में मेडिकल ऑफिसर और 25 वर्षों से अधिक का अनुभव) बताते हैं कि इन लक्षणों को न करें नजरअंदाज:

1. भूख में कमी: हार्ट में कोई समस्या होने पर लिवर को भी खाना पचाने में दिक्कत होती है। इस वजह से 3-4 महीने पहले से ही आपको भूख कम लगने लगती है और खाने में रुचि कम हो जाती है।

2. अपच और पेट में गैस: हार्ट की समस्या पेट को भी प्रभावित करती है। जिसके कारण खाना ठीक से नहीं पच पाता और पेट में गैस बनने लगती है।

3. सांस फूलना: थोड़ी देर चलने या सीढ़ियां चढ़ने पर ही सांस फूलने लगना और अत्यधिक पसीना आना भी हार्ट अटैक का संकेत हो सकता है।

4. बाएं कंधे और जबड़े में दर्द: रात में सोते समय जबड़े या बाएं कंधे में दर्द होना हार्ट की समस्या का एक महत्वपूर्ण लक्षण है।

डॉक्टर वीके पांडे सलाह देते हैं कि अगर आपको इनमें से कोई भी लक्षण दिखे तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। समय रहते जांच और इलाज से हार्ट अटैक को रोका जा सकता है।

इसके अलावा, आप अपनी जीवनशैली में कुछ बदलाव करके भी हार्ट को स्वस्थ रख सकते हैं:

  • रोजाना 45 मिनट तक टहलें।
  • अत्यधिक तेल-मसाले वाले भोजन से परहेज करें।
  • धूम्रपान और शराब का सेवन न करें।
  • तनाव से दूर रहें।

हृदय रोग से बचाव के लिए जागरूकता ही सबसे बड़ा हथियार है।

यह जानकारी आपके लिए उपयोगी हो तो इसे अपने परिवार और दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *